वैसे तो हम किसी भी भगवान की पूजा किसी को दिन कर सकते हैं लेकिन हफ्ते के सातों दिन में किसी न किसी भगवान का अलग स्थान है और ऐसा माना जाता है किउसी दिन उस भगवान की पूजा करने से विशेष फल मिलता है। किसी तरह मंगलवार को बजरंगबली यानी हनुमान जी का दिन माना जाता है ऐसी मान्यता है कि मंगलवार का व्रत करने से इस दिन बजरंगबली अपने भक्तों की सभी कष्टों को हर लेते हैं और उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं।

ज्योतिषियों के अनुसार मंगलवार को ही हनुमान जी की पूजा करने से कई लाभ प्राप्त होते हैं भक्त मंगलवार का व्रत रखते हैं और हनुमान जी की पूजा अर्चना करते हैं ऐसा बताया जाता है कि भगवान हनुमान को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है माना जाता है कि यदि इंसान के जीवन में कोई पारिवारिक समस्या है या फिर कोई अन्य शारीरिक कष्ट है तो किसी भी प्रकार की समस्या का निदान श्री हनुमान जी की पूजा करने से हो जाता है हनुमान जी अपने भक्तों की सभी कष्टों को दूर कर देते हैं हिंदू धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मंगलवार बजरंगबली का विशेष दिन माना जाता है जो भी लोग हनुमान जी के पुजारी हैं हनुमान जी का ध्यान करके मंगलवार का व्रत रखते हैं तो उन्हें मंगलवार को हनुमान जी की पूजा अवश्य करनी चाहिए। जब भी पूजा करें तो अपने मन और तन को पवित्र कर ले। पूजा के दौरान अपने मन में बुरे विचारों को न आने दे। ऐसा माना जाता है कि भगवान हनुमान की पूजा काफी स्वच्छता के साथ करनी चाहिए। कभी ना कभी आपके मन में भी यह विचार आया होगा कि आखिर हनुमान जी की पूजा के दौरान के नियमों का पालन करें तथा कैसे उनकी पूजा करें।

आइए आज हम आपको बताते हैं हनुमानजी की पूजा करने की बिल्कुल सही विधि–

मंगलवार के दिन सुबह उठकर सबसे पहले स्नान करके पूजन शुरू करें सबसे पहले हनुमान जी को स्नान कराएं इसके बाद में हनुमान जी को पीला सिंदूर लगा है ऐसा माना जाता है कि हनुमानजी को पीला सिंदूर सिंदूर लगाने के बाद उन्हें जनेऊ धारण करवाएं। इसके बाद धतूरे के पत्तों की माला पहनाएं। तथा इन पत्तो में श्री राम भी लिखे। तत्पश्चात हनुमान चालीसा का पाठ करे या बजरंग पाठ करे। हनुमान जी के प्रसाद में विशेष तौर पर बूंदी का प्रसाद अवश्य रखें हनुमान जी को खुशबू बेहद पसंद है। इसलिए हनुमान जी को केवड़े का गुलाब की माला चढ़ाएं।
आइए जानते हैं मंगलवार को क्यों होती है हनुमान जी की पूजा–
पौराणिक मान्यताओं के अनुसार मंगलवार के दिन हनुमान जी का जन्म हुआ था जिसके चलते यह दिन हनुमान जी को समर्पित कर दिया गया हालांकि सीपीए पौराणिक मान्यताओं पर ही आधारित नहीं है इसका उल्लेख स्कंद पुराण में भी किया गया इस दिन विधि विधान से हनुमान जी की पूजा करना हनुमान जी की पूजा करने से उनके सभी कष्ट दूर हो जाते हैं मान्यता के अनुसार मंगलवार के दिन व्रत रखने के साथ ही हनुमान चालीसा सुंदरकांड का पाठ बहुत-बहुत प्रभावशाली तथा फल देने वाला माना जाता है।