Bihar Exit Poll:

Bihar Exit Poll 2019: 2024 के लोकसभा चुनाव की आखिरी घड़ी आ गई है,आज आखिरी चरण का मतदान होगा| एग्जिट पोल के नतीजे सातवें चरण की वोटिंग के बाद घोषित किए जाएंगे. एग्ज़िट पोल अंतिम परिणाम की भविष्यवाणी करेंगे। हालाँकि, एग्ज़िट पोल के ये अनुमान सही हैं या नहीं, ये 4 जून को अंतिम नतीजे आने तक पता नहीं चलेगा। पिछली बार ज्यादातर एग्जिट पोल सही साबित हुए थे. Bihar में लोकसभा की 40 सीटें हैं. इन 40 सीटों के लिए एग्जिट पोल भी आज जारी होंगे. अब देखने वाली बात ये होगी कि इस एग्जिट पोल में बिहार में किसे कितनी सीटें मिलेंगी. तो आइए जानते हैं 2019 बिहार लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल कैसे रहे?

बिहार में कैसा रहा एग्जिट पोल का प्रदर्शन?

2019 के लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल के मुताबिक, बीजेपी को असल में ज्यादा सीटों का फायदा हुआ. या हम कह सकते हैं कि एग्जिट पोल में जो दिख रहा था उससे ज्यादा सीटें मिलीं। एग्जिट पोल ने खुद संकेत दिया है कि बिहार में गठबंधन को झटका लगेगा। जब अंतिम नतीजे आए तो एग्जिट पोल के नतीजों की पुष्टि हो गई. एग्जिट पोल में एनडीए गठबंधन को Bihar की 34 में से 36 सीटें मिलती दिखाई गईं। वहीं, प्रमुख लीगों को 4 से 6 सीटें मिलने की उम्मीद थी।

वास्तविक परिणाम क्या आए थे?

जब Bihar में 2019 के लोकसभा चुनाव परिणाम घोषित हुए, तो एग्जिट पोल के आंकड़ों से भी पता चला कि भाजपा ने बेहतर प्रदर्शन किया। 2019 के लोकसभा चुनाव में लालू प्रसाद यादव की पार्टी राजद का खाता भी नहीं खुला. एनडीए ने 40 में से 39 सीटें जीतीं. 2019 के बिहार लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 17 सीटें, जेडीयू ने 16 सीटें, लिबरल पार्टी ने 6 सीटें और कांग्रेस ने 1 सीट जीती।

कौन कितनी सीटों पर लड़ रहा है?

इस बार 2024 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी 17 सीटों पर जबकि जेडीयू 16 सीटों पर चुनाव लड़ रहा है| एनडीए कोटे पर नजर डालें तो चिराग पासवान की एलजेपी (रामविलास) को 5 सीटें, उपेंद्र कुशवाह की राष्ट्रीय लोक मोर्चा को 1 सीट और जीतन राम मांझी की हम पार्टी को 1 सीट मिली है. उधर, भारतीय गठबंधन में राजद 23 सीटों पर, कांग्रेस 9 सीटों पर, लेफ्ट पार्टी 5 सीटों पर और वीआईपी 3 सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

2014 कैसा रहा?

दरअसल, 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने Bihar में 23 सीटें जीती थीं. वहीं, लालू प्रसाद के नेतृत्व वाली पार्टी राजद को महज 4 सीटों से संतोष करना पड़ा था | 2014 में जेडीयू एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ी,उस चुनाव में नीतीश कुमार की अगुवाई वाली पार्टी जेडीयू ने 2 सीटें जीती थीं. इसके अलावा कांग्रेस ने भी दो सीटें जीतीं. भाजपा की सहयोगी जनता दल ने छह सीटें जीतीं थीं ।