स्वास्थ्य

Coronavirus Cases in India: कोरोनावायरस के नवीनतम रूपों से बचने के लिए प्रतिरक्षा बढ़ाने के उपाय

Coronavirus Cases in India

Coronavirus Cases in India: कोरोना को तीन साल तक झेलने के बावजूद, कोरोना अभी तक हमारे शरीर से बाहर नहीं निकला है। हाल ही में कोरोनो ने कई रूप बदले हैं। जैसे ही लगता है कि हम कोरोना से बच गए हैं, कोरोना तुरंत एक नए रूप में हमारे सामने आता है। कोरोना का नवीनतम संस्करण JN.1 फिर से लोगों को परेशान कर रहा है। कोरोनावायरस का नवीनतम स्ट्रेन जेएन.1, या कोरोनावायरस की वैकल्पिक श्रृंखला जेएन.1, ने विश्व भर में हड़कंप मचा दिया है। यह पहले चीन, अमेरिका और सिंगापुर में देखा गया था, लेकिन अब भारत में भी देखने को मिल रहा है। भारत के केरल राज्य में गा है। साथ ही उत्तराखंड में अलर्ट जारी है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि इम्युनिटी पर अधिक ध्यान देकर कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा कम किया जा सकता है। हम अपनी कैलोरी, ऑक्सीडेटिव तनाव, विटामिन, सूजन और डीटॉक्सिफिकेशन पर ध्यान देकर कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा कम कर सकते हैं।

Calories

हम अपनी डाइट में कम कैलोरी वाले भोजन को शामिल कर सकते हैं, इससे विटामिन और खनिजों का कम सेवन हो सकता है, जो हमारी प्रतिरक्षा को कम करता है। पर्याप्त कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट वाले आहार से ग्लाइकोजन शरीर की प्रतिरक्षा को बढ़ाता है। चीनी, गुड़, फलों के रस, घी, तेल और तेल सरल कैलोरी स्रोत हैं।

Inflammation

Coronavirus Cases in India: संक्रमण शरीर में संक्रमण, चोटों और विषाक्त पदार्थों से लड़ने का प्रक्रिया है। जब आपका शरीर कुछ कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाता है, तो आपका शरीर उन रसायनों को छोड़ता है जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रतिक्रिया देते हैं। सूजन को कम करने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड, विट ए, ई और सी आवश्यक हैं।

Detoxification

संक्रमण शरीर में संक्रमण, चोटों और विषाक्त पदार्थों से लड़ने का प्रक्रिया है। जब आपका शरीर कुछ कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाता है, तो आपका शरीर उन रसायनों को छोड़ता है जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रतिक्रिया देते हैं। सूजन को कम करने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड, विट ए, ई और सी आवश्यक हैं।

Oxidative Stress

Coronavirus Cases in India: ऑक्सीडेटिव तनाव से शरीर में मुक्त कणों और एंटीऑक्सिडेंट असंतुलित हो जाते हैं। एंटीऑक्सिडेंट जैसे सूक्ष्म पोषक तत्वों का उपयोग बढ़े हुए ऑक्सीडेटिव तनाव से बचाने में मदद कर सकता है। एंटीऑक्सिडेंट के अच्छे स्रोत हैं सेलेनियम, ल्यूटिन, लाइकोपीन, विटामिन ए, सी और ई। इनमें अंडे, हरी पत्तेदार सब्जियां, खट्टे फल, बादाम, मूंगफली और दुग्ध उत्पाद शामिल हैं।

ये चाल आपको Alcohol की लत से दूर कर सकती हैं, काम में आ सकती है ये Trick

Vitamins

शरीर की प्रतिरक्षा को जिंक, विटामिन डी और बी 6 बनाए रखने में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। शरीर में कैल्शियम और फॉस्फोरस के स्तर को बनाए रखने में विटामिन डी की मदद मिलती है। इससे सांस की बीमारियां भी दूर होती हैं। जिंक टी-कोशिकाओं, या टी-लिम्फोसाइट्स, को बनाने और सक्रिय करने में मदद करता है।

फेसबुक और ट्विटर पर हमसे जुड़ें और अपडेट प्राप्त करें:

facebook-https://www.facebook.com/newz24india

twitter-https://twitter.com/newz24indiaoffc

Related Articles

Back to top button
Share This
9 Tourist Attractions You Shouldn’t Miss In Haridwar चेहरे पर चाहिए चांद जैसा नूर तो इस तरह लगायें आलू का फेस मास्क हर दिन खायेंगे सूरजमुखी के बीज तो मिलेंगे इतने फायदे हर दिन लिपस्टिक लगाने से शरीर में होते हैं ये बड़े नुकसान गर्मियों के मौसम में स्टाइलिश दिखने के साथ-साथ रहना कंफर्टेबल तो पहनें ऐसे ब्लाउज
9 Tourist Attractions You Shouldn’t Miss In Haridwar चेहरे पर चाहिए चांद जैसा नूर तो इस तरह लगायें आलू का फेस मास्क हर दिन खायेंगे सूरजमुखी के बीज तो मिलेंगे इतने फायदे हर दिन लिपस्टिक लगाने से शरीर में होते हैं ये बड़े नुकसान गर्मियों के मौसम में स्टाइलिश दिखने के साथ-साथ रहना कंफर्टेबल तो पहनें ऐसे ब्लाउज