IGI Airport: शुक्रवार सुबह दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (IGI) पर हुए हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई और पांच लोग घायल हो गए। हादसे के बाद भाजपा और कांग्रेस में बहस शुरू हो गई।

IGI Airport: शुक्रवार सुबह दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (IGI) पर हुए हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई और पांच लोग घायल हो गए। टर्मिनल 1 की छत गिरने के भयानक हादसे के बाद राजनीति भी गर्म हो गई है। भाजपा और कांग्रेस एक दूसरे पर आरोप लगाने लगे हैं। मोदी सरकार ने कहा कि दुर्घटना 2009 में यूपीए सरकार के दौरान हुई थी, जबकि कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने इसका कारण भ्रष्टाचार बताया है।

आईजीआई एयरपोर्ट पर हुए हादसे के बाद, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने मोदी सरकार पर कड़ा हमला बोला। उन्होंने दिल्ली एयरपोर्ट, जबलपुर एयरपोर्ट पर गिरे हुए शेड, अयोध्या में जलभराव, राममंदिर में लीकेज और गुजरात के मोर्बी में हुए पुल हादसे को गिनाते हुए कहा कि यह सब दस साल में मोदी सरकार के दौरान हुए भ्रष्टाचार का परिणाम था।

“खरगे ने कहा ये कुछ उदाहरण मोदी जी के बड़े दावों और भाजपा के ‘वर्ल्ड क्लास इन्फ्रास्ट्रक्चर’ का पर्दाफाश कर रहे हैं। 10 मार्च को, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टी1 का उद्घाटन करते हुए खुद को ‘दूसरी मिट्टी का इंसान’ बताया। चुनाव से पहले झूठी वाहवाही और बयानबाजी की गई थी।उन्होंने पीड़ितों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि वे एक भ्रष्ट, अयोग्य और स्वार्थी सरकार का खामियाजा भुगते हैं।

नागरिक उड्डयन मंत्री ने हादसे के बाद आईजीआई एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि सरकार ने इसे गंभीरता से लिया है और जांच शुरू कर दी है। उन्होंने मृतक के परिवार को बीस लाख रुपये और घायलों को तीन लाख रुपये देने का भी वादा किया। मंत्री ने कहा कि जांच रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी और कोई लापरवाही नहीं की जाएगी।

यह पूछे जाने कि विपक्ष जल्दबाजी में उद्घाटन का आरोप लगा रहा है, नायडू ने साफ किया कि जो हिस्सा गिरा है उसका उद्घाटन पीएम मोदी ने नहीं किया था। उनका कहना था, “इसको लेकर मैं साफ कर दूं कि पीएम मोदी ने जिसका उद्घाटन किया वह अलग है। 2009 में बना यह आज गिरा है। गौरतलब है कि 2004 से 2014 तक कांग्रेस की अगुआई वाली यूपीए गठबंधन का शासन था।