Rajasthan News: राजस्थान में तबादलों को लेकर संघर्ष कर रहे कृषि मंत्री किरोड़ी लाल मीना और पंचायती राज मंत्री मदन दिलावर के बीच एक समझौता हुआ है। दिलावर विभाग ने अब यू-टर्न ले लिया है। कहां- हमें कोई आपत्ति नहीं है।

Rajasthan News: राजस्थान में तबादलों को लेकर संघर्ष कर रहे कृषि मंत्री किरोड़ी लाल मीना और पंचायती राज मंत्री मदन दिलावर के बीच एक समझौता हुआ है। दिलावर विभाग ने अब  यू-टर्न ले लिया है। पंचायती राज विभाग ने कहा कि हमें कोई आपत्ति नहीं है। वास्तव में, कृषि मंत्री किरोड़ीलाल मीणा की अनुमति से किए गए तबादलों को रोकने के आदेश से अब पंचायतीराज विभाग ने राहत दी है। अब पंचायतीराज विभाग ने एक नए आदेश में कृषि विभाग से जिला परिषदों और पंचायत समितियों में इंजीनियरों के ट्रांसफर और पोस्टिंग को गलत बताने के आदेश को पंचायतीराज विभाग ने नए आदेश में लिखा है कि हमें कोई आपत्ति नहीं है।

कृषि विभाग ने इंजीनियरों को पिछले दिनों जिला परिषदों और पंचायत समितियों में नियुक्त किया है। इन तबादलों को कृषि मंत्री किरोड़ी लाल मीणा ने मंजूरी दी थी, लेकिन मदन दिलावर का पंचायत राज विभाग इन तबादलों को रोकने के लिए विरोध कर रहा है। कृषि विभाग के आदेश को पंचायत राज विभाग ने मानने से इनकार कर दिया है। इससे पंचायती राज विभाग ने सभी जिला परिषद को पत्र लिखकर कहा है कि कृषि विभाग से आए इंजीनियरों को ज्वाइन नहीं करना चाहिए और उन्हें मूल विभाग में फिर से भेज देना चाहिए।

अब भजनलाल सरकार के दौरान दो विभागों के बीच टकराव देखने को मिल रहा है। सरकार ने ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग को दो मंत्रियों में विभाजित कर दिया है, जो इस विवाद का कारण है। किरोड़ी लाल मीणा की देखरेख में ग्रामीण विकास विभाग है, जबकि पंचायती राज मदन दिलावर की देखरेख में दूसरा विभाग है। ऐसे में दोनों विभागों के बीच समन्वय नहीं होता, जो इसी बहस का विषय था। हालाँकि, अब मदन दिलावर के विभाग ने यू टर्न लेकर विवाद को शांत कर दिया है।