राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और उत्तर प्रदेश समेत समूचे उत्तर भारत में इस समय कड़ाके की ठंड पड़ रही है. हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और उत्तराखंड समेत पहाड़ी राज्यों में हो रही भारी बर्फबारी के कारण मैदानी इलाकों में शीत लहर चल रही है. जिसकी वजह से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. हालांकि पिछले दो दिनों में लोगों को कोहरे और आसमान में छाए बादलों से राहत जरूर मिली है और सूर्य भगवान ने दर्शन दिए हैं, लेकिन बर्फीली हवाओं से अभी भी निजात नहीं मिल पाई है.

 वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी, चमगादड़ों का वायरस बन सकता है इंसानों के लिए खतरा

उत्तर भारत में ठंड का कहर

मौसम विभाग के अनुसार उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली, उत्तराखंड समेत उत्तर भारत क कई राज्य ठिठुरन भरी सर्दी से बेहाल हैं. मौसम विभाग (IMD) का तो यहां तक कहना है कि आने वाले कुछ दिनों में उत्तर भारत में ठंड का कहर अभी जारी रहेगा और ठंड पिछले दिनों की तरह लोगों की परेशानियों को जस की तस रखेगी. मौसम विभाग ने उत्तर भारत में पड़ रही ठंड के पीछू सबसे बड़ा कारण पर्वतीय क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी ही बताई है. मौसम वैज्ञानिकों ने बताया कि अगले 4 दिनों तक उत्तर प्रदेश ठंड से कांपता रहेगा. कोल्ड डे के हालात चार दिनों तक जारी रहने वाले हैं.

 देश में सबसे अमीर राजनीतिक दल भाजपा, 4847 करोड़ की संपत्ति घोषित

4-5 दिनों तक कड़ाके की ठंड जारी रहेगी

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार उत्तर भारत में ठंड का एक और दौर फिर से शुरू होने वाला है. जबकि आने वाले 4-5 दिनों तक कड़ाके की ठंड जारी रहेगी. मौसम विभाग ने उत्तर भारत के लिए येलो अलर्ट जारी किया है. मौसम विज्ञान से जुड़े वैज्ञानिकों का तो यहां तक कहना है कि उत्तर प्रदेश के कई जिलों में तापमान 3 डिग्री से भी नीचे जा सकता है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि अगले 24 घंटों के दौरान उत्तर पश्चिम और मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में कोई महत्वपूर्ण बदलाव की संभावना नहीं है और उसके बाद धीरे-धीरे 4-6 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होगी.