भारतीय धुरंधरों ने एक बर फिर भारतीय तिरंगे का मान बढ़ाते हुए, ICC अंडर 19 वर्ल्ड कप के ख़िताब को रिकॉर्ड पाँचवीं बार जितने का कार्य किया है| भारत के युवा खिलाड़ियों ने इंग्लैंड को फाइनल में हराकर आईसीसी अंडर-19 विश्व कप को अपने नाम कर लिया है।

यश ढुल की कप्तानी वाली युवा टीम ने इतिहास रचते हुए पूरे टूर्नामेंट में हर मैच जीता और फ़ाइनल में अपनी जगह बनायी । भारतीय टीम ने फाइनल में भी जीत के इस सिलसिले को जारी रखा और इंग्लैंड को छोटे स्कोर वाले मुकाबले में 4 विकेट से हरा दिया|

सर विवीयन रिचर्ड्ज़ स्टेडीयम ( ऐंटीग्वा) में हुए इस फ़ाइनल में इंग्लंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए महज़ 189 रन का लक्ष्य ही भारत को दे पायी । भारतीय गेंदबाजो ने इंग्लैंड के बल्लेबाजो को खुल कर खेलने का मौक़ा ही नही दिया । भारत की तरफ़ से राज अंगद बावा ने सबसे अधिक 5 विकेट , रवि कुमार ने 4 विकेट और कौशल ताम्बे को 1 विकेट मिला ।

189 के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत तो सही नही हुई । पहले ओवर में ही ओपनर अंगक्रिस अपना विकेट जोशुआ को दे बैठे।हरनूर(21) और रशीद(50) ने पारी को सम्भालने का प्रयास किया| भारत का  दूसरा विकेट 17.3 ओवर में महज़ 49 रन पे गिरा था जिसके बाद कप्तान यश(17) ओर निशांत(50) ने पारी को गति देने का कार्य किया| 47वे ओवर की चौथी गेंद में दिनेश(13) ने छक्का मार कर भारत को ये ऐतिहासिक जीत दिलाई|

यश ढुल से पहले मोहम्मद कैफ, विराट कोहली, उन्मुक्त चंद और पृथ्वी शॉ यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं|भारतीय टीम रिकॉर्ड आठवीं बार फाइनल में पहुंची थी। अंडर-19 में कोई भी टीम इतनी बार विश्व कप के फाइनल में नहीं पहुंच पाई है। यह टीम इंडिया का रिकॉर्ड लगातार चौथा फाइनल भी था। भारतीय टीम के बाद ऑस्ट्रेलिया ने तीन बार यह खिताब जीता है।