मध्यप्रदेश के इंदौर राऊ थाना क्षेत्र में एक लावारिस सूटकेस रास्ते में पड़ा था। अचानक आते जाते लोगों की नजर सूटकेस पर पड़ी तो देखा सूटकेस हिल रहा था। जब उसे खोला गया तो उसमें से करीब 8 साल का बच्चा बाहर निकला। बच्चे का रो रोकर हाल बुरा हो रहा था, पुलिस इस घटना की जांच कर रही है। मध्यप्रदेश के राउ थाना क्षेत्र मैं इस घटना से सनसनी फैल गई है। यहाँ आज दोपहर रास्ते से गुजर रहे एक व्यक्ति ने लावारिस सूटकेस को हिलते हुए देखा जब सूटकेस खोला दो मौके पर उपस्थित लोगों के होश उड़ गए। सूटकेस मे बच्चे को बंद देख लोग हैरान रह गए आखिर इस तरह की हरकत कौन कर सकता है सबके दिमाग में यही सवाल है। घटनास्थल से लोगों ने तत्काल पुलिस को मामले की जानकारी दी।

बच्चे से पूछ्ताछ कर रही पुलिस

सूटकेस में करीब एक 8 साल का बच्चा था। बच्चा जैसे ही सूटकेस से बाहर निकला वह ज़ोर ज़ोर से रोने लगा, गरीब परिवार का लग रहा है। मौके पर पहुंची पुलिस ने सूटकेस को जब्त कर लिया। बच्चा सूटकेस में कैसे आया उसे कुछ याद नहीं। पुलिस बच्चे से पूछ्ताछ कर ये पता लगाने की कोशीश कर रही है कि आखिर कौन उसे सूटकेस में बंद कर फेंक गया था। हालांकि अभी तक पुलिस को कुछ जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। बच्चा सदमे में है और ज्यादा बात करने की हालत में नहीं है। भारत में बच्चों के प्रति क्राइम रेट हर साल बढ़ता ही जा रहा है। हालांकि अभी तक यह कहा नहीं जा सकता है कि इस घटना के पीछे उद्देश्य क्या था। कई बार ऐसा भी देखा गया है कि धन की कमी के कारण माँ बाप अपने बच्चों को या तो बेसहारा छोड़ देते है या गलत कदम उठाने पर मजबूर हो जाते हैं।