हमारे जीवन में गृहों का बहुत महत्व बताया गया है लेकिन ये हमारे मानने के ऊपर होता है कुछ लोग ग्रहों राशि का अपने जीवन में बहुत महत्व देते हैं लेकिन कुछ लोग इन्हें अपने जीवन में बिल्कुल भी नहीं मानते हैं अगर हम बात करें ज्योतिष शास्त्र की तो ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक ग्रहों का हमारे जीवन में काफी गहरा असर पड़ता है जीवन में होने वाली हर अच्छी बुरी घटनाओं के लिए ग्रह कहीं ना कहीं जिम्मेदार होते हैं वही आज हम आपको बताते हैं ज्योतिष के द्वारा दी हुई कुछ विशेष जानकारी–

 

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक लोगों का गलत फैशन उनकी किस्मत को खराब कर सकता है आजकल के ट्रेंड में रंग बिरंगे जूते पहनने का प्रचलन है लेकिन ज्योतिष शास्त्र ने बताया की किसी भी जूते का रंग किस्मत खराब कर सकता है ज्योतिष के अनुसार आइए जानते हैं कि व्यक्ति को किस रंग के जूते चप्पल पहनना चाहिए।

 

गृहों के मुताबिक जूते चप्पल का रंग–

 

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के जूते का रंग उनके गृहों के अनुसार होना चाहिए ज्योतिषो ने बताया कि शरीर के निचला हिस्सा पैर का संबंध शनि से माना जाता है इसके अनुसार जिनकी कुंडली में शनि और राहु अच्छी स्थिति में होते हैं तो ऐसे लोगों को जूते चप्पल के बिजनेस में खूब तरक्की मिलती है इसलिए पैरों में काले भूरे और नीले रंग के जूते पहनना शुभ संकेत माना गया है।

 

यदि आपकी कुंडली में मंगल खराब है तो ऐसे में आपको लाल रंग के जूते नहीं पहनना चाहिए क्योंकि यदि आपका मंगल खराब है और आप लाल रंग के जूते पहनते हैं तो आपके जीवन में मुश्किलें बढ़ती जाएंगी।

 

यदि आपकी कुंडली में चंद्रमा खराब है तो ऐसी स्थिति में आपको सफेद जूता पहनने से परहेज करना चाहिए।

जैसा कि हम जानते हैं पीला रंग बृहस्पति देव का होता है पीले रंग को शुभ और पवित्र भी माना गया है। इसलिए पीले रंग के जूते चप्पल भी नहीं पहनना चाहिए। यदि आप पीले रंग की सोने की पायल या जूते चप्पल पहनते है तो आपके जीवन में अपयश, गरीबी और कई मुश्किल पैदा होती रहेंगी। इसलिए जरूरी है कि आप अपने जूते का चुनाव करने के पहले अपनी कुंडली को जान ले उसके बाद ही आप उनका चुनाव की जिससे बिना जाने जीवन में दस्तक देने वाली समस्याओं से बच सके।