तीसरी लहर पूरी तरह से वैक्सीनेटेड लोगों को भी अपनी चपेट में ले रही है। कोरोना संक्रमण में ओरल हेल्थ का ध्यान रखना काफी जरूरी होता है। ऐसे में अगर आप कोरोना से संक्रमित हैं या इससे रिकवर हो रहे हैं तो अपना टूथब्रश जरूर बदलें। क्या आप जानते है कि कोरोना से रिकवर होने के बाद अगर आप अपना टूथब्रश नहीं बदलते हैं तो यह काफी हानिकारक साबित हो सकता है।

इसलिए जरूरी है टूथब्रश बदलना
हर तीन महीने में अपना टूथब्रश बदलना एक अच्छी आदत है। लेकिन कोविड के बाद इसमें बिल्कुल भी देरी न करें और इसे तुरंत बदल दें। दरअसल वायरस प्लास्टिक की सतहों पर लंबे समय तक जीवित रह सकता है। इसलिए सुरक्षित रहने के लिए आपको टूथब्रश को बदल देना चाहिए। यह न केवल आपको फिर से बचाएगा बल्कि परिवार के अन्य सदस्यों की भी रक्षा करेगा जो आपके साथ बाथरूम शेयर करते हैं। इसके अलावा, संक्रमण को रोकने के लिए नए टंग क्लीनर का इस्तेमाल करें। हम जानते हैं कि कोविड 19 हमारे इम्यून सिस्टम को खराब करता है, लेकिन साथ ही यह आपकी ओरल हेल्थ पर भी प्रभाव डालता है। इससे ड्राई माउथ और मसूड़ों में छालों की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

इसके पीछे का साइंस

ओरल हाइजीन बनाए रखना महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह वायरस के प्रसार को बढ़ा सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार वायरस मुख्य रूप से संक्रमित व्यक्ति के मुंह से निकलने वाली छोटी.छोटी बूंदों के माध्यम से फैलता है। खासकर जब वे खांसते, छींकते, बात करते या हंसते हैं।

इसके अलावा, वायरस से इंफेक्टेड सतहों को छूने से भी संक्रमित होना संभव है। यही कारण है कि न केवल अपने हाथों को नियमित रूप से धोना और साफ करना जरूरी है, बल्कि आपको समय.समय पर सतहों को भी डिसइंफेक्ट करना चाहिए।