नई दिल्ली: विधानसभा चुनावों में जिस तरह से कांग्रेस की महिला ओं को टिकट देने की घोषणा की गई वहीं एमसीडी चुनावों में कांग्रेस ने यह घोषणा की है। विधानसभा चुनावों के बाद अब एमसीडी चुनावों में कांग्रेस ने अपनी रणनीति तैयार कर ली है। बताया जा रहा है कि इस बार एमसीडी के चुनाव में कांग्रेस युवाओं पर बड़ा दांव खेलने जा रही है।राहुल गांधी ने एक तरह से साफ संकेत दे दिया है आगामी चुनाव पार्टी युवा और नए चेहरे के जरिए चुनाव मैदान में उतारने की तैयारी में है।

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार को साफ साफ निर्देश दिए हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रविवार को राहुल गांधी और चौ. अनिल कुमार की मुलाकात हुई और इस दौरान आगामी चुनाव के मद्देनजर बातचीत भी हुई।

कांग्रेस 50 फीसदी युवा उम्मीदवारों को टिकट दे सकती है। दिल्ली की राजनीति में लगातार गिरते ग्राफ को नए सिरे से मजबूत करने की कवायद को लेकर कांग्रेस अब युवा नेताओं के जरिए पार्टी को मजबूत करने की रणनीति बना रही है।

एक बातचीत के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि दिल्ली की केजरीवाल और केंद्र की भाजपा सरकार के प्रति भी उसके मन में आक्रोश है। पिछले कुछ वर्षों में देश में बेरोजगारी का ग्राफ तेजी से बढ़ा है जिसको लेकर हमने यह फैसला किया है कि इस बार हमें युवा चेहरों को मौका देना चाहिए। बातचीत में यह भी सामने आया है कि मौजूदा विपरीत परिस्थितियों में भी सदस्यता अभियान में उल्लेखनीय योगदान दे रहे पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को विशेष प्राथमिकता दी जाएगी।

पिछले एमसीडी चुनावों में दिल्ली कांग्रेस अपनी जीत को लेकर उत्साहित थी क्योंकि उसके हालिया प्रदर्शन ने पिछले विधानसभा चुनावों में पार्टी के कुल वोट शेयर को 6 फीसदी से बढ़ाकर इस बार 22 फीसदी करने में कामयाबी हासिल की थी।