राजस्थान में एक बार फिर मौसम ने करवट लिया जहां राजस्थान के 5 जिलों में धूल भरी आंधी चलने के साथ हल्की फुल्की बारिश भी देखी गई और गंगानगर में ओले पड़े। यहां बिजली करने की भी सूचना मिली है, जहां बीकानेर में आंधी के कारण एक पेड़ गिरने से नीचे दबे बाइक सवार युवक की मौत हो गई।
बुधवार देर शाम सक्रिय हुए पश्चिमी विक्षोभ से पाकिस्तान क्षेत्र से आई तेज हवा ने राजस्थान के मौसम में बदलाव किया। नागौर, बीकानेर, जोधपुर, गंगानगर, सीकर में धूल भरी आंधी चलने के साथ-साथ कई जगहों पर बूंदाबांदी भी हुई वही गंगानगर के अनूपगढ़, घड़साना और रावला क्षेत्र में ओले भी पड़े।
गंगानगर के चक दो केपीडी क्षेत्र में बिजली गिरने की भी सूचना मिली है हालांकि किसी भी तरीके की जनहानि नहीं हुई।
मौसम में हुए बदलाव का असर हनुमानगढ़, चूरू और नागौर में भी देखने को मिला यहां भी बादल छा गए और हवा चलने लगी।
जोधपुर के फलौदी में बादलों की गड़गड़ाहट के साथ कई जगह बारिश भी हुई इससे पहले हनुमानगढ़, जोधपुर, चूरू, बीकानेर सहित कई अन्य शहरों में गर्मी का असर काफी बढ़ गया था और तापमान 30 डिग्री सेल्सियस के आसपास रिकॉर्ड किया गया था। बीकानेर में आज का अधिकतम तापमान 32 डिग्री, गंगानगर में 27.5, डिग्री जोधपुर में 33.3 डिग्री, और चूरू में अधिकतम तापमान 30.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

ये भी पढ़ें : रूसी सेना ने उत्तरी कीव के 3 रिहायशी इलाकों में की बमबारी, सेटेलाइट इमेजेस में दिखी तबाही
जोधपुर बीकानेर से लगे हुए नागौर जिले में भी पश्चिमी विक्षोभ का असर देखने को मिला है नागौर में 30 से 35 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार वाली धूल भरी आंधी चली जिसके बाद आसमान में धूल का गुब्बारा सा छा गया और तेज आंधी के बाद कई जगह बारिश भी हुई।
मौसम में आए इस बदलाव का असर पश्चिमी राजस्थान समेत कई जिलों के तापमान पर पड़ने वाला है जहां कल नागौर बीकानेर जैसलमेर बाड़मेर क्षेत्र में अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस से ऊपर था और आज वही दो से 3 डिग्री सेल्सियस की गिरावट देखने को मिल सकती है इस बदलाव से किसानों की परेशानी हो गई है क्योंकि रबी की फसल जो खेतों में खड़ी है उसको काफी नुकसान पहुंचा है।