उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर राज्य का सियासी पारा इस समय सातवें आसमान पर है. राजनीतिक दलों की ओर से जहां हर रोज उम्मीदवारों की घोषणा की जा रही है, वहीं नेताओं के भाषणों और बयानों ने चुनावी माहौल को गरमा दिया है. इस बीच कांग्रेस की ओर से धुआंधार प्रचार कर रहीं पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने उस बयान को लेकर स्पष्टीकरण दिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि उत्तर प्रदेश में वो ही मुख्यमंत्री का चेहरा हैं. यह बयान उन्होंने घोषणापत्र के एलान के दौरान दिया था.

 UP Assembly Election 2022: दूसरे चरण के 51 उम्मींदवारों की BSP ने जारी की सूची

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के इस बयान में उत्तर प्रदेश का चुनावी माहौल अचानक गरमा गया था, हालांकि बाद में उन्होंने खुद ही अपने इस बयान का खंडन कर दिया. एक समाचार एजेंसी को दिए इंटरव्यू के दौरान प्रियंका गांधी ने कहा कि वह उत्तर प्रदेश में केवल वो ही मुख्यमंत्री का चेहरा नहीं है, उन्होंने यह बात कुछ बढ़ा चढ़ाकर कह दी थी. असल में हुआ यूं कि जब राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय पर प्रियंका गांधी वाड्रा यूपी चुनाव के लिए युवा घोषणापत्र जारी कर रहीं थी तो उनसे पत्रकारों ने पूछ लिया कि कांग्रेस की ओर से उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री का चेहरा कौन है. तो प्रियंका गांधी ने कहा कि क्या आपको उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की तरफ से कोई और चेहरा दिख रहा है?

 Tata Punch Micro SUV के सभी वेरिएंट्स की कीमतों में इजाफा, यहां देख‍िये नई और पुरानी कीमत

हालांकि बाद में न्यूज एजेंसी के साथ बातचीत में प्रियंका ने बताया कि मुख्यमंत्री कौन होगा और कौन नहीं, यह पार्टी फैसला करती है. उन्होंने कहा कि कुछ राज्यों में मुख्यमंत्री के नाम को लेकर अभी फैसला नहीं हुआ है. प्रियंका ने आगे कहा कि मेरा मतलब यह नहीं है कि सीएम के लिए मैं ही चेहरा हूं.